जनसंख्या स्थिरीकरण के प्रति जागरुक करने के उद्देष्य से जगह-जगह शिविर आयोजित करने के निर्देश

जनसंख्या स्थिरीकरण के प्रति जागरुक करने के उद्देष्य से जगह-जगह शिविर आयोजित करने के निर्देश
रुद्रपुर 09 जुलाई – मुख्य विकास अधिकारी इवा आषीश श्रीवास्तव ने आज
विकास भवन सभागार में जनसंख्या स्थिरीकरण व डायरिया नियंत्रण पखवाड़ा मनाये
जाने व आंगनबाड़ी केन्द्रों में आयोजित होने वाले स्वास्थ्य जांच शिविर के
सम्बन्ध में स्वास्थ्य व सम्बन्धित विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक ली।
उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि 11 से 24 जुलाई
तक आयोजित होने वाले जनसंख्या स्थिरीकरण पखवाड़े के बावत एक ठोस कार्ययोजना
तैयार कर ली जाये तथा जनता को जनसंख्या स्थिरीकरण के प्रति जागरुक करने के
उद्देष्य से जगह-जगह शिविर आयोजित किये जाएं।
जनसंख्या स्थिरीकरण के प्रति जागरुक करने के उद्देष्य से जगह-जगह शिविर आयोजित करने के निर्देश
सीडीओ
ने बताया कि 11 जुलाई को प्रतिवर्ष  विश्व  जनसंख्या दिवस मनाया जाता है। इस
अवसर पर बढती आबादी के स्थिरीकरण व आम जनता को दो बच्चों का परिवार अपनाने
का संदेश देने के उद्देष्य से जनपद मे 11 से 24 जुलाई तक जनसंख्या
स्थिरीकरण पखवाडा मनाया जा रहा है। उन्होंने जनता से अपील की है कि जनपद
में स्वास्थ्य केन्द्रों पर परिवार नियोजन से सम्बन्धित उपलब्ध होने वाली
निःषुल्क सेवाओं का लाभ उठाएं। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को
निर्देश दिए कि लोगों को जनसंख्या के प्रति जागरुक करने के लिए टीमें गठित
की जाये तथा इस हेतु आंगनबाडी कार्यकत्रियों का सहयोग लिया जाये । उन्होने
जल संस्थान व स्वजल विभाग के अधिकारियों को निर्देष दिये कि डायरिया रोग की
रोकथाम हेतु टीमे गठित कर किट के माध्यम से जल की स्वच्छता की जाचें
समय-समय पर करवाई जाय। उन्होने शिक्षा विभाग के अधिकारियो को निर्देष दिये
कि सभी षिक्षण संस्थानो के प्रधानाचार्यो को आदेजनसंख्या स्थिरीकरण के प्रति जागरुक करने के
उद्देष्य से जगह-जगह शिविर आयोजित करे कि वह प्रार्थना सभा
में छात्र-छात्राओ को षारीरिक साफ सफाई की जानकारी दे। आंगनबाडी केन्द्रों
में आयोजित होने वाले स्वास्थ्य परीक्षण शिविर के सम्बन्ध में समीक्षा करते
हुए सीडीओ ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देष दिए कि शिविर के
आयोजन से पूर्व उसका व्यापक प्रचार प्रसार किया जाये तथा शिविर आयोजन दिवस
पर डाक्टरों व स्वास्थ्य कर्मचारियों की टीमें यथासमय आंगनबाडी केन्द्रों
पर पहुंचे तथा उपस्थिति पंजिका में पहुंचने का समय व नाम अवष्य दर्ज करें।
उन्होंने कहा कि जिन बच्चों के स्वास्थ्य की जांच की जाती है, पंजिका में
उनके आने का समय तथा  बाल पोषण  संवर्धन कार्ड में उनके स्वास्थ्य जांच
सम्बन्धी विवरण को अवष्य दर्ज किया जाये तथा उसकी रिपोर्ट की प्रति षिक्षा
विभाग व उन्हें(सीडीओ) भी उपलब्ध करायें। उन्होंने आंगनबाडी केन्द्रों में
10 जुलाई को लगने वाले षिविर के बावत स्वास्थ्य विभाग के अधिकारयों को
निर्देष दिए कि जो बच्चे शिविर के दौरान स्वास्थ्य परीक्षण करवाने से वंचित
रह जायें उनका स्वास्थ्य की जांच षनिवार के दिन 01 बजे से 03 बजे तक
सरकारी स्वास्थ्य केन्द्रों पर की जाये।
इस
अवसर पर एसीएमओ डाॅ0एचएस पांगती,मुख्य स्वास्थ्य नगर अधिकारी डाॅ0अविनाष
खन्ना,जिला मलेरिया अधिकारी बीसी जोषी,डाॅ0बीके तिलाडा,डाॅ0सुनीता
रतूडी,डाॅ0एचएस ऐरी,डाॅ0एसके अरोरा,डीपीएम नीरज सक्सेना सहित जिला शिक्षा
अधिकारी पीएन सिंह व केके वाश्र्णेय,जिला कार्यक्रम अधिकारी ललिता
वर्मा,अधिषासी अभियन्ता जल संस्थान तरूण षर्मा,परियोजना प्रबन्धक स्वजल
प्रदीप तिवारी,सीडीपीओ कमला कोरंगा व सरोज टम्टा तथा विभिन्न क्षेत्रों से
आये ब्लाॅक कार्यक्रम प्रबन्धक उपस्थित थे। 
www.kashipurcity.com & www.adpaper.in – न्यूज़, जॉब अलर्ट, ऑनलाइन डील
शेयर करें

Leave a Reply