मनरेगा में पारदर्षिता लाने हेतु ’’भुवन’’ पोर्टल लांच - काशीपुर ब्रेकिंग न्यूज़

Kashipur Breaking News [ www.kashipurcity.com ] Powered By : न्यूज़ वन नेशन

Breaking

Post Top Ad

Wednesday, August 24, 2016

मनरेगा में पारदर्षिता लाने हेतु ’’भुवन’’ पोर्टल लांच

रूद्रपुर 24 अगस्त - महात्मा गांधी रोजगार गारन्टी योजना (मनरेगा) के जीईओ की जानकारी विषय पर विकास भवन स्थित शहीद उधम सिंह सभागार में आयोजित एक दिनी कार्यशाला जिलाधिकारी डाॅ0 आशीष  कुमार श्रीवास्तव की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने बताया कि मनरेगा में और पारदर्षिता लाने हेतु भारत सरकार द्वारा ’’भुवन’’ नामक पोर्टल बनाया गया है। सम्बन्धित अधिकारी/कर्मचारीं इस पोर्टल को अपने मोबाईल में अपलोड करेगे तथां मनरेगा के अन्तर्गत किये जा रहे निर्माण कार्याें के फोटोग्राफ इस पोर्टल में अपलोड किया करेगें जो अपलोड करने के बाद जनपद के मानचित्र में दिखाई देगें। जिलाधिकारी ने कार्यशाला में उपस्थित सभी खण्ड विकास अधिकारियों, ग्राम विकास अधिकारियों एवं रोजगार सेवकों से कहा कि मनरेगा एक कानून है और कानून का पालन अवष्य किया जाये। कहा कि मनरेगा के तहत प्रत्येक गांव के हर जरुरतमंद एवं पात्र व्यक्ति को 100 दिन का रोजगार अवष्य दिया जाय। उन्होंने कहा कि मनरेगा के तहत 60 वर्ष  की आयु पार कर चुके वृद्धजन एवं विकलागों को भी अनिवार्य रुप से रोजगार उपलब्ध कराया जाय। कहा कि वृद्वजनों एवं विकलागों को कार्यस्थल पर पानी पिलाने व शिशुओं ओं की देखभाल करने का कार्य दिया जाय। उन्होंने सभी ग्राम विकास अधिकारियों को निर्देष दिये कि प्रत्येक सप्ताह सोमवार के दिन जनपद की सभी ग्राम पंचायतों में रोजगार दिवस अवष्य मनाया जाय। उन्होंने रोजगार सेवकों से कहा कि मजदूरों का पंजीकरण करने व उनके द्वारा रोजगार की मांग के समय रसीद अवष्य दी जाये। उन्होंने रोजगार सेवकों को हिदायत दी कि प्रत्येक विकास खण्ड में 100 दिन का रोजगार प्राप्त कर चुके मनरेगा मजदूरों की संख्या में इजाफा देखने को मिले। कहा कि कार्यस्थल पर मजदूरी उन्हीं लोगों द्वारा की जाय जिनके नाम से जाॅबकार्ड जारी हुआ है। जिलाधिकारी ने डीडीओ आरसी तिवारी को निर्देष दिये कि वे समय-समय पर मनरेगा के तहत होने वाले कार्याें का स्थलीय निरीक्षण करें और माह अक्टूबर में सभी रोजगार सेवकों की कार्य प्रगति का विवरण प्रस्तुत करें। जिलाधिकारी ने रोजगार सेवकों से व्यकितगत रुप से बात कर मनरेगा के मजदूरों को दिये जाने वाले रोजगार की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि बकरीबाडा, मुर्गीबाडा, गौशाला, नाद, वर्मी कम्पोस्ट पिट, नाद आदि व्यक्तिगत योजनाओं का लाभ मनरेगा के श्रमिकों को ही दिया जाय। उन्होंने कहा कि इन्दिरा आवास योजना के तहत मजदूरों को 90 दिन का रोजगार दिया जाता है उन्हें 10 दिन का रोजगार और उपलब्ध कराया जाय ताकि उनके 100 दिन का रोजगार पूरा हो सके। उन्होंने निर्देष दिये कि मनरेगा मजदूरों के अकाउन्ट नम्बर से आधार नम्बर के लिंक कार्य को भी षीघ्र पूरा कर लिया जाय। 
 
      कार्याशाला में जिला विकास अधिकारी आरसी तिवारी द्वारा मनरेगा के उद्देष्य, मनरेगा के इतिहास, मनरेगा के तहत कराये जाने वाले निर्माण कार्याें एवं मनरेगा के अन्तर्गत भुवन नाम से लांच हुए पोर्टल के सम्बन्ध में विस्तार से जानकारी दी गई। साथ ही जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा अब्दुल कलाम ग्राम बदलाव योजना के बारे में भी विस्तार से जानकारी दी गई। 
    कार्यशाला में पीडी बालकृश्ण, एपीडी रमा गोस्वामी, जिला पंचायत राज अधिकारी रमेष त्रिपाठी, जिला उद्यान अधिकारी रतन सिंह, ईई ग्रामीण निर्माण विभाग विनीत कुरील सहित सभी खण्ड विकास अधिकारी, ग्राम विकास अधिकारी एवं रोजगार सेवक उपस्थित थे।

Advance Digital Paper - www.adpaper.in & www.kashipurcity.com - न्यूज़, करियर , टेक्नोलोजी . #adigitalpaper, Baal Ki Khaal - Online youtube Channel

No comments:

Post a Comment

अपनी राय दें। आर्टिकल भेजें। संपर्क करें।

Post Bottom Ad