जनपद के पांच विकास खण्ड खुले में शौच से मुक्त - काशीपुर ब्रेकिंग न्यूज़

Kashipur Breaking News [ www.kashipurcity.com ] Powered By : न्यूज़ वन नेशन

Breaking

Post Top Ad

Thursday, September 29, 2016

जनपद के पांच विकास खण्ड खुले में शौच से मुक्त

रूद्रपुर 29 सितम्बर-मिशन स्वाभिमान कार्यक्रम केे अन्तर्गत जनपद के पांच विकास खण्ड खुले में शौच से मुक्त (ओडीएक) हो चुके है इस प्रकार ओडीएफ के अन्तर्गत जिले का प्रदेश  में प्रथम स्थान है भारत सरकार में इस बात की पहचान हो चुकी है उत्तराखण्ड के जिला उधमसिंह नगर में ओडीएफ कार्यक्रम अभियान के रूप में चल रहा है। 
यह बात मुख्य विकास अधिकारी डाॅ0 आशीष  कुमार श्रीवास्तव ने आज विकास भवन में एक दिवसीय कार्यशाला में विकास खण्ड खटीमा एवं सिंतारगंज से आये हुये ग्राम प्रधानों से कही। उन्होने कहा कि जिले के विकास खण्ड जसपुर,काशीपुर,गदरपुर,रूद्रपुर पूरी तरह से ओडीएफ हो चुके है तथा बाजपुर 10 अक्टूवर तक ओडीएफ हो जायेगा इसलिये विकास खण्ड खटीमा व सितारगंज को दृढ संकल्पित होकर 01 अक्टवूर से समयबद्ध अभियान चलाकार 20 अक्टूवर तक अपनी ग्राम सभाओं को ओडीएफ कर लें। ग्राम प्रधानों ने 20 अक्टूवर तक अपनी  ग्राम सभाओं को ओडीएफ कर लेने का आष्वासन दिया। डाॅ0 श्रीवास्तव ने बताया कि आगामी 09 नवम्बर को राज्य स्थापना दिवस पर जो ग्राम सभा सबसे स्वच्छ घोषित होगी उसे पुरस्कृत कर एक ट्राफी,प्रषस्ति पत्र एवं मनरेगा से 01 लाख की धनराषि दी जायेगी। उन्होंने कहा कि 09 नवम्बर को प्रत्येक ग्राम सभा घोशणा करें की उनकी ग्राम पंयाचत स्वच्छ घोशित हो चुकी है। उन्होंने ग्राम प्रधानों को नसीहत दी कि वह गांव में कुछ ऐसे महत्वपूर्ण कार्य करें जिससे आनी वाली पाढी उन्हें याद रखें। पुरूशों की जिम्मेदारी है घर में अनिवार्य रूप से षौचालय बना हो । बहू बेटियों के लिये घर में षौचालय होना स्वामिभान का प्रतीक भी है। सीडीओ ने कहा कि 12 हजार की धनराषि के लालच में षौचालय न बनाये बल्कि स्वस्थ रहने की सोच से बनाये जाय क्योकि अधिकतर बीमारियां खुले में षौच करने से ही फैलती है इसके लिये लोगों को प्रेरित भी किया जाय तथा लोगों को इस बात से भी अवगत कराये कि षौचाालय बना देना ही पर्याप्त नही है वरन उसका उपयोग व सफाई भी आवष्यक है ,षौचालयों को गोदाम न बनाया जाय। 
सीडीओ ने बताया कि जिले में 20 सार्वजनिक षौचालय स्वजल विभाग द्वारा बनाये जायेेगे। उन्होंने कहा कि सार्वजनिक शौचालय हर तोक में बनाया जाय तथा उनका षुल्क भी तय किया जाय उससे प्राप्त धनराशि  को ग्राम पंचायत के खाते में जमा कर मरम्मत आदि कार्यो में उपयोग किया जाय। उन्होंने ग्राम प्रधानों से कहा कि महिलाओं से ग्राम सभाओं में अधिक सहयोग लिया जाय। उन्होंने कहा कि शौचालयों के निर्माण का भुगतान जैसे-जैसे ग्राम सभा ओडीएफ होगी तद्नुसार उनका भुगतान भी कर दिया जायेगा वह भुगतान हेतु निष्चित रहें। उन्होंने कहा कि सभी ग्राम प्रधान अपने क्षेत्र में ठोस,तरल अपषिश्ट प्रबन्धन के तहत भी कार्य करें योजना के अन्तर्गत मजदूरी मनरेगा से दी जायेगी जबकि सामग्री 14वें वित्त आयोग व स्वजल से दी जायेगी। सीडीओ ने बताया कि 01 जनवरी 2017 से खुले में षौच करता हुआ कोई पाये जाय तो उससे 500 से 1000 रूपये का जुर्माना ग्राम पंचायत द्वारा वसूला जायेगा। 
बैठक में प्रोजेक्ट मैनेजर स्वजल भीम सिंह,बालकृश्ण मेलकानी,नीता मिश्रा के अलावा ग्राम प्रधान निर्भान सिंह,षकीर उद््दीन,धरम पाल,जितेन्द्र सिंह,सुनीता देवी,ह्ी्दयानन्द,इन्दिरावती,बलराम यादव,गंगा राणा,जमुना देवी समेत खटीमा तथा सिंतारगंज से बडी तादात में ग्राम प्रधानगण उपस्थित। 

Advance Digital Paper - www.adpaper.in & www.kashipurcity.com - न्यूज़, करियर , टेक्नोलोजी . #adigitalpaper, Baal Ki Khaal - Online youtube Channel


No comments:

Post a Comment

अपनी राय दें। आर्टिकल भेजें। संपर्क करें।

Post Bottom Ad