क्या बड़े मीडिया चेनल बिके हुए हैं ?

15 दिनों से सभी बड़े मीडिया चेनलों पर आम आदमी पार्टी के अन्दर चल रही राजनीति के अतिरिक्त कुछ दिखाई नहीं दे रहा। *विकाऊ
चेनलों को*
एक मुख्य मंत्री आतंकवादी
को छोड़ देता दिखाई नहीं दे रहा , एक पूर्व प्रधान मंत्री से घोटालों पर पूछताछ हो रही है वो भी दिखाई नहीं दे रहा । एक
पार्टी चुनाव से पहले जनता से जम्मू एंड कश्मीर से धारा 370 हटाने का वायदा करती
है। बाद में भूल जाती है उसमे भी मीडिया को कोई मतलब नहीं । एक पार्टी में अध्यक्ष हटाने की मांग हो रही है।
वायदे के बाद भी कालाधन वापस नही आया है। किसानों की भूमि अधिकार छीनने को
कानून बनाने की साजिश  हो रही है। इन मुद्दो के लिऐ चेनलों के पास एक दो मिंट से अधिक का समय नही है। आप में आंतरिक झगडा
है उसके लिए 15 दिनों से घटो तक समाचार  चलाऐ जा रहे है। श्रोता भी बोर हो गऐ
है। इन चैनलौ की मंशा देश का भला करना नहीं बल्कि राजनीति करना लग रहा है  । गुटबाजी चुनावी दांव पेच  सामान्य
खबर है। किस दल में आतरिक कलह नही है। विभीषणों की कहीं भी कमी नहीं है।
ऐसे बिकाऊ चेनलों को भी जनता जल्दी सबक सिखायगी।

इनसाइड कवरेज न्यूज़ – www.insidecoverage.in, www.kashipurcity.com, www.adpaper.in

शेयर करें

Leave a Reply