डिजीटल इण्डिया अभियान में जिले के सभी विभाग होंगे ऑनलाइन

रूद्रपुर 02 जुलाई -डिजीटल इण्डिया सप्ताह का शुभारम्भ पूरे देश में
01 जुलाई को शुरू कर दिया गया है जिसके अन्तर्गत विभिन्न विभागों की सेवाओं
को आॅन लाइन किया जा रहा है। जिसके अन्तर्गत विभिन्न विभागों की
कल्याणकारी योजनाओं के आवेदन पत्र आदि को आॅन किया जायेगा। इस सम्बन्ध में
जिलाधिकारी डाॅ0 पंकज कुमार पाण्डेय ने बताया है कि डिजीटाईजेशन का कार्य
केन्द्र सरकार की अनूठी पहल है जिसके अन्तर्गत जनता को सरकार द्वारा
संचालित योजनाओं का लाभ त्वरित गति से मिलेगा तथा विभागों द्वारा की गई
कार्यवाही को आवेदक सम्ब्न्धित विभाग की वेबसाईट पर देख सकते है।
जिलाधिकारी ने बताया कि योजना के अन्तर्गत सार्वजनिक वितरण प्रणाली को
सुलभ,सुचारू व पारदर्शी बनाये जाने के लिये जिले में प्रचलित राष्ट्रीय
खाद्य सुरक्षा योजना,बीपीएल,अन्त्योदय राषन कार्डो का डिजीटाईजेशन का कार्य
किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि खाद्य सुरक्षा योजना के तहत जिले में
198874 राशन कार्ड प्रचलित है जिसके सापेक्ष 151550 कार्डो का
डिजीर्टइाजेशन का कार्य पूरा हो चुका है तथा शेष राशन कार्डो का
डिजीटाइजेशन कार्य दु्रतगति से किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इसके साथ
ही जनपद में एपीएल राशन कार्डो का भी डिजीटाईजेशन कार्य किया जाना
प्रस्तावित है । 
जिलाधिकारी
ने बताया कि जनपद मुख्यालय की दो राशन दुकानों को पायलट प्रोजेक्ट के रूप
में चुना गया है तथा इन दुकानों में सम्बद्ध राशन कार्डो का षतप्रतिषत
कम्प्यूटराईजेशन करने के उपरान्त सम्ब्न्धित उपभोक्ताओं को खाद्यान्न का
वितरण किया जाना प्रस्तावित है। उन्होंने बताया कि इन चिन्हित राशन की
दुकानों के खाद्य सुरक्षा योजना,बीपीएल,अन्त्योदय राशन कार्डो का
डिजीटाईजषन कार्य किया जा चुका है एवं एपीएल राशन कार्डो को निर्गत किये
जाने हेतु जांच प्रपत्र पूर्ण रूप से प्राप्त कर लिये गये है तथा इन कार्डो
का डिजीटाईजेषन कराया जा रहा है। उन्होंने बताया कि डिजीटाईजेषन कार्य में
मुखिया के मतदाता पहचान पत्र के अलावा आधार कार्ड एवं बैंक खाता नंम्बर को
भी डिजीटाईजषन किया गया है जिसे धारक को आधार नं0 में लिंक किये जाने में
दिक्कत न रहे। जिलाधिकारी ने बताया कि राषन कार्डो के डिजीटाईजेशन कार्य
पूरा हो जाने के उपरान्त जिले में राषन वितरण प्रणाली आॅन लाईन हो जायेगी।
इस व्यवस्था के तहत राशन की दुकानवार सम्बद्ध कार्ड यूनिटों के अनुसार
आबंटन सम्बन्धित आपूर्ति कार्यालय से जारी कर जिला पूर्ति कार्यालय के
सर्वर में भेजा जायेगा और डीएसओ कार्यालय से सम्ब्न्धित एस.एम.आई गोदामों
को आॅनलाईन भेजा जायेगा। इसके पश्चात सम्बन्धित एसएमआई द्वारा विक्रेताओं
को खाद्यान्न,चीनी आदि उनके आबंटन अनुरूप निर्गत की जायेगी। इस कार्य की
सूचना उपभोक्ताओं द्वारा पूर्ति विभाग की वेबसाइट पर भी देखी जा सकती है।
जिलाधिकारी ने योजना की कार्य प्रणाली के सम्बन्ध में बताया कि दुकानों पर
खाद्यान्न आदि पहुंचने के बाद दुकानदार द्वारा राषन कार्ड के नंम्बर को
अपनी पाॅज मषीन में दर्ज करना होगा तथा नं0 दर्ज होते ही कार्डधारक का
डाटाबेस आॅन हो जायेगा। कार्डधारक के मुखिया द्वारा अपनी अंगूठा निशानी
मशीन पर दर्ज करनी होगी। मशीन द्वारा कार्डधारक की अंगूठा निशानी स्वीकार
करने के बाद ही दुकानदार द्वारा सम्बन्धित को राशन निर्गत किया जायेगा। 
जिलाधिकारी
ने बताया कि इस व्यवस्था में मुखिया के उपलब्ध न होने पर कार्डधारक को
खाद्यान्न प्राप्त करने में परेशानी न हो इसके लिये परिवार के अन्य सदस्यों
के वोटर आईडी, आधार नम्बर,बैंक खाता नंम्बर को भी फीड किये जाने के प्रयास
किये जा रहे है। 
www.kashipurcity.com & www.adpaper.in – न्यूज़, जॉब अलर्ट, ऑनलाइन डील
शेयर करें

Leave a Reply