- काशीपुर ब्रेकिंग न्यूज़

Kashipur Breaking News [ www.kashipurcity.com ] Powered By : न्यूज़ वन नेशन

Breaking

Breaking News

Post Top Ad

Thursday, January 1, 2015



दिनांक 30 दिसम्बर, 2014 को कुमायूं गढ़वाल चैम्बर आॅफ काॅमर्स एण्ड इण्डस्ट्री (केजीसीसीआई) के महुआखेड़ा गंज चैप्टर की एक बैठक डाॅ0 आशीष श्रीवास्तव, उपजिलाधिकारी काशीपुर के साथ फ्लैक्सीटफ इण्टरनेशनल लि0, महुआखेड़ा गंज, काशीपुर के सभागार में सम्पन्न हुई। बैठक का संचालन केजीसीसीआई के वरिष्ठ उपाध्यक्ष श्री आलोक कुमार गोयल ने किया।

केजीसीसीआई के वरिष्ठ उपाध्यक्ष श्री आलोक कुमार गोयल ने उपजिलाधिकारी महोदय को अवगत कराया कि महुआखेड़ा गंज में स्थित औद्योगिक इकाईयों में प्रयुक्त होने वाले वाहनों से नगर पंचायत, महुआखेड़ा गंज द्वारा तहबाजारी के तहत मनमाने तरीके से वसूली की जा रही है जबकि तहबाजारी का नियम किसी भी प्रकार के वाहनों पर लागू नहीं होता। साथ ही नगर पंचायत द्वारा क्षेत्र के उद्योगों को गृह कर जमा करने हेतु भी नोटिस भेजे जा रहे हैं। उन्होंने अवगत कराया कि यह उद्योग, केन्द्र सरकार द्वारा उद्योगों की स्थापना हेतु एक विशेष श्रेणी के अन्तर्गत की गयी अधिसूचित भूमि पर ही लगाए गए हैं अतः अधिसूचित भूमि पर स्थापित उद्योगों से नगर पंचायत गृहकर वसूल नहीं कर सकती। इसके अतिरिक्त नगर पंचायत द्वारा औद्योगिक क्षेत्र में किसी भी प्रकार का विकास कार्य भी नहीं किया गया है ऐसे में गृहकर वसूल करना न्यायोचित नहीं है। उन्होंने उपजिलाधिकारी से तहबाजारी एवं गृहकर वसूली को तत्काल प्रभाव से खत्म कराने की मांग की। डाॅ0 आशीष श्रीवास्तव ने इस समस्या के समाधान हेतु चैम्बर के पदाधिकारियों, महुआखेड़ा गंज के उद्योग प्रतिनिधियों, नगर पंचायत, महुआखेड़ा गंज के अधिशाषी अधिकारी एवं चेयरमेन के साथ अगले हफ्ते एक मीटिंग आयोजित करने का सुझाव दिया।

चैम्बर के पूर्व अध्यक्ष श्री विकास जिन्दल ने अवगत कराया कि शासन द्वारा उद्योगों की स्थापना हेतु क्रय की जाने वाली भूमि के सर्किल रेट रू0 3500/- प्रति वर्गमीटर की दर से लिए जाने हेतु शासनादेश जारी किया गया है जो कि बहुत ज्यादा है। इस व्यवस्था से उत्तराखण्ड में पूंजी निवेश की सम्भावनाएं क्षीण हो जाएंगी। जमीनों की दरें बहुत ऊँचीं होने के कारण उद्यमी उत्तराखण्ड में अपने उद्योग नहीं लगा पाएंगे। इस पर उपजलाधिकारी ने कहा कि चूंकि यह शासन स्तर का मामला है अतः चैम्बर द्वारा उन्हें इस आशय का ज्ञापन दिया जाना चाहिए ताकि वे उसे शासन को भेज सकें। उपस्थित उद्यमियों द्वारा अपनी विभिन्न समस्याओं से अवगत कराया गया जिस पर उपजिलाधिकारी महोदय ने सुझाव दिया कि इसके लिए उनके साथ एक नियमित अन्तराल पर बैठकों का आयोजन सुनिश्चित किया जाना चाहिए।

इस अवसर पर केजीसीसीआई के वरिष्ठ उपाध्यक्ष श्री आलोक कुमार गोयल, कोषाध्यक्ष श्री नितिन अग्रवाल, पूर्व अध्यक्ष श्री विकास जिन्दल, महुआखेड़ागंज क्षेत्र के जोनल चेयरमैन श्री पुनीत सिघंल, श्री अतुल असावा, श्री कुलदीप सिंह, श्री एस0 के0 माथुर, श्री एस0 के0 गुप्ता, श्री एस0 के मिश्रा, श्री नरेन्द्र सिंह, श्री पी0 सी0 जैन, श्री पंकज अग्रवाल, श्री विनीत चैहान, श्री मान सिंह तंवर, श्री सुभाष गोयल, श्री राजीव कुमार गोयल, श्री अमित जिन्दल, श्री निमिष अग्रवाल, श्री वाहिद अली, श्री प्रदीप सिंह आर्य, श्री नासिर अहमद आदि उपस्थित थे।

No comments:

Post a Comment

अपनी राय दें। आर्टिकल भेजें। संपर्क करें।

Post Bottom Ad