’’ इन्सीडेन्ट रिस्पोन्स सिस्टम’’ से आपदा प्रभावितों को जल्द मिलेगी सहायता - काशीपुर ब्रेकिंग न्यूज़

Kashipur Breaking News [ www.kashipurcity.com ] Powered By : न्यूज़ वन नेशन

Breaking

Post Top Ad

Tuesday, November 22, 2016

’’ इन्सीडेन्ट रिस्पोन्स सिस्टम’’ से आपदा प्रभावितों को जल्द मिलेगी सहायता

रुद्रपुर 22 नवम्बर - कलक्ट्रेट सभागार में राज्य आपदा प्रबन्धन प्राधिकरण के तत्वाधान में ’’इन्सीडेन्ट रिसपोन्स सिस्टम’’(आईआरएस) विषय पर आयोजित कार्यषाला के दूसरे दिवस में विषेशज्ञ बीबी गणनायक द्वारा जिला स्तर पर गठित होने वाली इन्सीडेन्ट रिस्पोन्स सिस्टम के तहत गठित टीम के अधिकारियों एवं उनके दायित्वों के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। उन्होंने बताया कि किसी भी प्रकार की आपदा के दौरान जिला प्रशासन द्वारा राहत एवं बचाव कार्य तीव्र गति से किये जाय इस हेतु भारत सरकार द्वारा ’’सेवन डेस्क सिस्टम‘‘ के स्थान पर ’’ इन्सीडेन्ट रिस्पोन्स सिस्टम’’ की स्थापना की गई है। 
 
श्री गणनायक ने बताया कि इन्सीडेन्ट रिस्पोन्स सिस्टम के गठन का मकसद यह है किसी भी आपदा के दौरान जनपद में गठित इन्सीडेन्ट रिस्पोन्स टीम द्वारा 20 मिनट के भीतर प्रभावितों तक सहायता पहुंचायी जा सके। उन्होंने कहा कि तीन दिवसीय कार्यषाला के माध्यम से अधिकारियों को यह जानकारी दी गई है कि वे प्राकृतिक व अन्य प्रकार की आपदाओं से निपटने के लिए किस प्रकार से पहले से तैयार रहें ताकि आपदा के दौरान राहत एवं बचाव कार्य तीव्र गति से हो सके और आपदा से होने वाली मानवीय व अन्य सम्पत्ति के नुकसान को कम किया जा सके। उन्होंने कहा आपदा घटित होने के आरम्भ के चार घण्टों में की जाने वाली कार्यवाही महत्वपूर्ण है क्योंकि इस दौरान किये गये राहत एवं बचाव कार्याें से कई जिन्दगियों को बचाया जा सकता है। उन्होंने बताया कि जनपद में इन्सीडेन्ट रिसपोन्स सिस्टम’’(आईआरएस) के तहत टीम का गठन किया गया है जिसके अन्तर्गत विभिन्न विभागों के अधिकारियों की जिम्मेदारियां तय की गई हैं। इन अधिकारियों को कार्यषाला के माध्यम से इन्सीडेन्ट रिस्पोन्स सिस्टम, सिस्टम के तहत गठित टीम के अधिकारियों के दायित्व, आपदा के दौरान तीव्र गति से प्रतिक्रिया का महत्व, आपसी समन्वय बनाकर कार्य करने के महत्व, सूचना प्रेशण का महत्व, समय की बचत, संसाधनों के प्रबन्धन, दूसरे प्रदेषों अथवा देषों से पहंुचने वाली ऐजेन्सियों से किस प्रकार सहयोग लिया जाय, ईन्सीडेन्ट एक्षन प्लान, उपलब्ध संसाधनों के सदुपयोग, संसाधनों के एकत्रीकरण एवं वितरण आदि के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। श्री गणनायक ने बताया कि अधिकारियों के आत्म विष्वास को जगाने के लिए 23 नवम्बर को माॅक ड्रिल का आयोजन किया जायेगा।
   कार्यषाला में अपर जिलाधिकारी प्रताप सिंह षाह, डीडीओ अजय सिंह, उप जिलाधिकारी पूरन सिंह राणा, दयानन्द सरस्वती, युक्ता मिश्र, विनोद कुमार व नरेष दुर्गापाल, एसीएमओ एसएस दुग्ताल, मुख्य कोशाधिकारी तृप्ति श्रीवास्तव, जिला आपदा प्रबन्धन अधिकारी अनिल षर्मा सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

Advance Digital Paper - www.adpaper.in & www.kashipurcity.com - न्यूज़, करियर , टेक्नोलोजी . #adigitalpaper, Baal Ki Khaal BKK News, Net Guru Online- NGO, UK News Live

No comments:

Post a Comment

अपनी राय दें। आर्टिकल भेजें। संपर्क करें।

Post Bottom Ad