अच्छे कार्यों के लिए जाने जाएंगे जिलाधिकारी अक्षत गुप्ता - काशीपुर ब्रेकिंग न्यूज़

Kashipur Breaking News [ www.kashipurcity.com ] Powered By : न्यूज़ वन नेशन

Breaking

Post Top Ad

Monday, June 6, 2016

अच्छे कार्यों के लिए जाने जाएंगे जिलाधिकारी अक्षत गुप्ता

 जिलाधिकारी अक्षत गुप्ता अपने अच्छे कामों के लिए जाने जाएंगे। अपने करीब सात माह के कार्यकाल में उन्होंने जिले को एक नई दिशा दी। कुपोषित बच्चों के लिए उनका संघर्ष भुलाया नहीं जा सकता। वहीं कूड़ा बीनने वाले बच्चों को स्कूल की दहलीज तक लाने के लिए उनके प्रयास सराहनीय रहे। हालांकि जिला अस्पताल को मॉडल अस्पताल बनाने की उनकी तमन्ना अधूरी रह गई। घर-घर में शौचालय की केंद्र और प्रदेश सरकार की मंशा को उन्होंने साकार किया।
 
नैनीताल और अल्मोड़ा के डीएम रहे आइएएस अक्षत गुप्ता ने छह नवंबर 2015  को ऊधम¨सह नगर की बागडोर संभाली थी। अपने कुशल व्यक्तित्व के कारण ही कुछ ही दिनों में वह लोगों के चहेते बन गए थे। समस्या के साथ ही उसका समाधान उनकी बड़ी खूबी थी। इसके साथ ही केंद्र और प्रदेश की योजनाओं का क्रियान्वयन उन्होंने बखूवी किया। मिशन पोषण आरोहण में उनकी दिलचस्पी ही कहेंगे कि जिले के तीन सौ कुपोषित बच्चों का बजन बढ़ा। अधिकारियों को इन बच्चों को गोद दिलाकर नियमित चेकअप और उनके पोषाहार की व्यवस्था की गई। जिला अस्पताल में न्यूटेशन सेंटर को अपग्रेड किया जाना इसी की एक कड़ी थी। साथ ही रिपोर्ट कार्ड जिसमें बच्चों का नियमित मेडिकल और सर्जरी तक की व्यवस्था की गई। इसके तहत मोबाइल एप भी बनाया गया, जिसकी लांचिग मुख्यमंत्री को करनी थी लेकिन वह अधूरी रह गई। इसके साथ ही कूड़ा बीनने वाले बच्चों के लिए डीएम की ओर से मिशन आगाज योजना शुरू की गई। ऐसे बच्चों को स्कूल की दहलीज तक लाया गया। उनके लिए स्पेशल क्लास के साथ ही उनके पोषाहर, स्कूल ड्रेस और मेडिकल चेकअप तक की व्यवस्था डीएम के प्रयासों से ही हुई। यह योजना इस कदर परवान चढी कि मुख्यमंत्री ने हर जिले में दो मॉडल स्कूल खोलने की घोषणा तक की थी। मिशन स्वाभिमान के तहत केंद्र और प्रदेश सरकार की मंशा का उन्होंने जिले में बखूबी पालन कराया। घर-घर शौचालय को लेकर उन्होंने अफसरों को गति दी। काशीपुर और जसपुर ब्लाक में सौ फीसदी लक्ष्य पूर्ति भी की। जिला योजना में भी प्रदेश में जिले ने मुकाम हासिल किया। वहीं जिलाधिकारी के प्रयास से ही हाइवे चौड़ीकरण का काम तेज गति से चल रहा था। जिला अस्पताल को मॉडल अस्पताल बनाने के लिए भी अक्षत गुप्ता ने खासे प्रयास किए। यहां ट्रामा सेंटर शुरू करने की उनकी तमन्ना अधूरी रह गई।

सौ ० सोशल मीडिया
A Digital Paper - www.adpaper.in & www.kashipurcity.com - न्यूज़, करियर , टेक्नोलोजी . #adigitalpaper

No comments:

Post a Comment

अपनी राय दें। आर्टिकल भेजें। संपर्क करें।

Post Bottom Ad